श्रीलंका में 106 संदिग्धों को किया गया गिरफ्तार

Breaking News International

कोलंबो। श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए बम विस्फोटों के सिलसिले में तमिल माध्यम स्कूल के एक शिक्षक और एक स्कूल प्रधानाचार्य सहित कुल 106 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही इस्लामिक स्टेट ने दावा किया है कि पूर्वी प्रांत में एक छापेमारी के दौरान खुद को उड़ा लेने वाले तीन आतंकवादी उसके सदस्य थे। पुलिस और सुरक्षाबल ईस्टर पर हुए धमाकों के लिए जिम्मेदार स्थानीय आतंकवादी समूह नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) के सदस्यों की लगातार तलाश कर रहे हैं। तीन चर्च और तीन लग्जरी होटलों में हुए इन धमाकों में 253 लोग मारे गए थे और 500 से अधिक घायल हो गए थे। ‘कोलंबो पेज’ ने खबर दी है कि सीआईडी 106 संदिग्धों से पूछताछ कर रही है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि गिरफ्तार लोगों में एक तमिल माध्यम स्कूल का एक शिक्षक भी शामिल है जिसके पास से 50 सिम कार्ड और अन्य संदिग्ध सामग्री बरामद की गई है। कलपितिया पुलिस और नौसेना के एक संयुक्त अभियान में उसे गिरफ्तार किया गया। वायुनिया शहर में सेना और पुलिस के एक विशेष संयुक्त अभियान के दौरान 10 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया। एक खुफिया सूचना के आधार पर मुख्य सड़कों को बंद कर दिया गया और करीब तीन घंटे तक तलाशी अभियान चलाया गया। इलाके में सुरक्षा व्यवस्था भी कड़ी कर दी गई है।

इस बीच, एनटीजी द्वारा प्रबंधित एक स्कूल के बारे में सूचना मिलने के बाद चलाए गए तलाशी अभियान के दौरान गैले के डमगेदरा इलाके में दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया। इनमें से एक संदिग्ध स्कूल का प्रधानाचार्य है और दूसरा डॉक्टर है जिसने एक प्रशिक्षक के रूप में काम किया है। गैले पुलिस मामले की जांच कर रही है। श्रीलंका ने शनिवार को एनटीजे और आईएसआईएस से जुड़े एक संबंधित समूह को प्रतिबंधित कर दिया।

ईस्टर पर बम हमला करने वाले समूह से जुड़े आतंकवादियों ने शुक्रवार को पूर्वी प्रांत में सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में गोलीबारी की और खुद को उड़ा लिया जिसमें छह बच्चों और तीन महिलाओं सहित 15 लोग मारे गए। घटनास्थल से भारी मात्रा में विस्फोटक भी बरामद हुआ। इस्लामिक स्टेट आतंकी समूह ने अपनी प्रचार समाचार एजेंसी ‘अमाक’ के माध्यम से रविवार सुबह एक बयान जारी कर दावा किया कि मुठभेड़ के दौरान खुद को उड़ाने वाले तीन आतंकवादी उसके सदस्य थे।

Leave a Reply