रैना ने पंजाब के सीएम से की कातिलों को सज़ा दिलाने की मांग

Breaking News National

नई दिल्ली। चेन्नई सुपर किंग्स के सुरेश रैना ने हाल ही में इंडियन प्रीमियर लीग 2020 से अपना नाम वापस ले लिया था और UAE से वापस भारत लौट आए थे। रैना के भारत लौटने का कारण उनके रिश्तेदारों के साथ हुआ एक दर्दनाक हादसा बताया जा रहा था जिसमें डकैतों ने उनके फूफा की हत्या कर दी थी।

इस घटना पर अब सुरेश रैना ने दुख जताया है और पंजाब सरकार से कातिलों को पकड़ने की गुहार लगाई है। रैना ट्वीट में लिखा, ‘‘पंजाब में मेरे परिवार के साथ जो हुआ वह भयावह है। मेरे फूफा की हत्या कर दी गयी, मेरी बुआ और दोनों भाईयों (बुआ के लड़कों) को गंभीर रूप से घायल कर दिया गया। दुर्भाग्य से मेरा भाई भी कई दिन तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद चल बसा। मेरी बुआ की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है और उन्हें लाइफ सपोर्ट पर रखा गया है।’’

रैना ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह को टैग करते हुए दूसरे ट्वीट में लिखा, “आज तक हमें पता नहीं कि उस रात क्या हुआ था और किसने ऐसा किया था। मैं पंजाब पुलिस से इस मामले पर गौर करने का आग्रह करता हूं। हम कम से कम यह जानने के हकदार तो हैं कि उनके साथ यह जघन्य कृत्य किसने किया। इन अपराधियों को और अपराध करने के लिये बख्शा नहीं जाना चाहिए।”

गौरतलब है कि चेन्नई सुपर किंग्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) केएस विश्वनाथन ने 29 अगस्त की सुबह ट्वीट करते हुए बताया था कि सुरेश रैना निजी कारणों से भारत लौट गए हैं और वह आईपीएल के इस सीजन में उपलब्ध नहीं रहेंगे। चेन्नई सुपर किंग्स सुरेश और उनके परिवार को पूरा समर्थन देती है।

रैना के भारत लौटने की खबर के बाद खुलासा हुआ था कि उनके फूफा और बुआ पर लुटेरों ने पंजाब के पठानकोट जिले में जानलेवा हमला किया था, जिसमें गंभीर रूप से घायल उनके 58 साल के फूफा की शनिवार 29 अगस्त को मौत हो गई और बुआ की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने कहा कि उनका परिवार जब अपने घर की छत पर सो रहा था, तब लुटेरों ने हमला कर दिया। यह हादसा 19 अगस्त की रात को पठानकोट में माधोपुर के थारियाल गांव में हुआ था।

Leave a Reply