पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान का 73 साल की उम्र में हुआ निधन

Breaking News National

नई दिल्ली। पूर्व भारतीय ओपनर बल्लेबाज चेतन चौहान का कोविड-19 संबंधित दिक्कतों के चलते रविवार को निधन हो गया। उनके भाई पुष्पेंद्र चौहान ने यह जानकारी दी। चौहान को करीब 36 घंटे से लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा हुआ था, वह 73 वर्ष के थे। भारत के लिये 40 टेस्ट खेलने वाले चौहान के परिवार में पत्नी और बेटा विनायक है।

विनायक मेलबर्न से शाम तक यहां पहुंचेगा। पुष्पेंद्र ने पीटीआई से कहा, ‘‘मेरे बड़े भाई चेतन चौहान बीमारी से लड़ते हुए आज हमें छोड़कर चले गये। मैं उन सभी का शुक्रिया करना चाहूंगा जिन्होंने उनके ठीक होने के लिये प्रार्थना की। उनका बेटा विनायक किसी भी समय पहुंच जायेगा और फिर हम उनका अंतिम संस्कार करेंगे।’’

चौहान को कोविड-19 पॉजिटिव पाये जाने के बाद 12 जुलाई को लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई में भर्ती कराया गया था। किडनी संबंधित बीमारियों के कारण उनका स्वास्थ्य बिगड़ गया जिससे उन्हें गुरूग्राम के मेंदाता अस्पताल में शिफ्ट किया गया। शुक्रवार रात को उनके कई महत्वपूर्ण अंगों ने काम करना बंद कर दिया और उन्हें वेंटीलेटर सपोर्ट पर रखा गया।

सलामी बल्लेबाज रहे चेतन चौहान के क्रिकेट करियर की बात करें तो अपने जीवन में उन्होंने कई शानदार पारियां सुनील गावस्कर के साथ खेली। अपने 12 साल के करियर में टेस्ट क्रिकेट से शुरुआत करने वाले चेतन चौहान ने 40 टेस्ट मैचों में 2084 रन बनाए जिसमें उनकी 97 रनों की बेस्ट पारी शामिल हैं। वहीं, 7 वनडे मैचों में उन्होंने सिर्फ 153 रन बनाए हैं। जिसमें 46 रनों की उनकी बेस्ट पारी शामिल है।

चेतन चौहान का राजनीतिक करियर

आपको बता दें कि पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान अमरोहा जिले की नौगांवा विधानसभा के विधायक हैं। क्रिकेट से संन्यास लेकर वह राजनीति में सक्रिय भूमिका निभा रहे थे।

मौजूदा समय में वह योगी सरकार में सैनिक कल्याण, होम गार्ड, पीआरडी, नागरिक सुरक्षा विभाग के मंत्री थे। चेतन चौहान भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से लोकसभा सांसद भी रह चुके थे। 1991 और 1998 के चुनाव में वह बीजेपी के टिकट पर सांसद बने थे।

Leave a Reply