एप बैन पर चीन की पहली प्रतिक्रिया, जानिए क्या कहा

Breaking News International

बीजिंग। चीन के 59 मोबाइल ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के भारत सरकार के कदम पर चीन की पहली प्रतिक्रिया आई है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जहाओ लीजियान ने कहा है कि भारत के इस कदम से चीन चिंतित है और हालात का जायजा ले रहा है। लीजियान ने कहा कि चीन की सरकार विदेशों में काम करने वाली सभी चीनी कंपनियों को अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय नियमों तथा कानूनों का पालन करने को कहती है। 

लीजियान ने कहा कि भारत में काम कर रही चीनी कंपनियों और अन्य अंतरराष्ट्रीय निवेषकों के कानूनी अधिकारों को सुरक्षा प्रदान करना भारत सरकार की जिम्मेदारी है। चीन की ओर से यह बयान तब आया जब इससे पहले सोमवार को भारत सरकार ने TikTok सहित 59 चीनी मोबाइल ऐप्स पर बैन लगा दिया था। भारत सरकार द्वारा यह कार्रवाई डेटा चोरी के मद्देनजर की गई है।

बता दें सरकार ने 59 चीनी मोबाइल ऐप्स को डेटा चोरी के मद्देनजर बैन किया है। आईटी मंत्रालय ने सोमवार को जारी एक आधिकारिक बयान में कहा कि उसे विभिन्न स्रोतों से कई शिकायतें मिली हैं, जिनमें एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कुछ मोबाइल ऐप के दुरुपयोग के बारे में कई रिपोर्ट शामिल हैं। इन रिपोर्ट में कहा गया है कि ये एप ‘‘उपयोगकर्ताओं के डेटा को चुराकर, उन्हें भारत के बाहर स्थित सर्वर को अनधिकृत तरीके से भेजते हैं।’’

गृह मंत्रालय के तहत आने वाले भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र ने इन दुर्भावनापूर्ण एप्स पर व्यापक प्रतिबंध लगाने की सिफारिश भी की थी। बयान में कहा गया है, ‘‘इनके आधार पर और हाल ही में विश्वसनीय सूचनाएं मिलने पर कि ऐसे ऐप भारत की संप्रभुता और अखंडता के लिए खतरा हैं, भारत सरकार ने मोबाइल और गैर-मोबाइल इंटरनेट सक्षम उपकरणों में उपयोग किए जाने वाले कुछ एप के इस्तेमाल को बंद करने का निर्णय लिया है।’’

हालांकि, मंगलवार को टिकटॉक ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा कि एप को बंद करने के लिए सरकार के आदेश के अनुपालन की प्रक्रिया में हैं। हालांकि, इसके साथ ही टिकटॉक ने यह भी कहा कि उसने एप इस्तेमाल करने वाले किसी भी भारतीय की जानकारी चीन सहित किसी भी विदेशी सरकार के साथ साझा नहीं की है। टिकटॉक ने कहा कि उसे संबंधित सरकारी पक्षों से मिलने और स्पष्टीकरण देने के लिए बुलाया गया।

Leave a Reply