क्राइम ब्रांच ने बरामद की 50 करोड़ की नकली करंसी

Breaking News National

पुणे। यहां क्राइम ब्रांच ने करीब 50 करोड़ रुपए मूल्य की नकली नोट जब्त किए। इनमें भारत और अमेरिका समेत कई देशों की करंसी शामिल है। हालांकि, इनमें से ज्यादातर पर ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ छपा है। इस मामले में सेना के एक जवान समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। क्राइम ब्रांच को शक है कि ये नोट ठगी के इरादे से छापे गए थे। फिलहाल, हर एंगल से जांच की जा रही है। आरोपियों में सेना का जवान भी है, इसलिए आर्मी इंटेलिजेंस भी पड़ताल में जुटी है।

पुणे के डीसीपी क्राइम ब्रांच बच्चन सिंह ने कहा, ‘‘दो दिन पहले हमें मिलिट्री इंटेलिजेंस से नकली करंसी गैंग के बारे में सूचना मिली थी। इसके बाद संयुक्त ऑपरेशन चलाकर हमने 6 लोगों को शहर के विमाननगर इलाके के एक फ्लैट से गिरफ्तार किया। सेना का जवान इस पूरे गैंग का मास्टरमाइंड है।’’

जब्त नकली नोटों में भारतीय करंसी 43 करोड़ 40 लाख रुपए की है।

रैकेट लिंक तलाशने की कोशिश की जा रही
डीसीपी ने बताया कि जब्त की गई नकली करंसी में भारतीय नोटों का मूल्य 43.4 करोड़ रुपए और अमेरिकी डॉलर का मूल्य 4.2 करोड़ रुपए है। ज्यादातर भारतीय नोटों पर ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ छपा हुआ है। पता लगाया जा रहा है कि इस रैकेट का लिंक कहां से जुड़ा है? इतनी बड़ी संख्या में नोट कहां प्रिंट किए गए? इसके पीछे मकसद क्या है? नकली नोटों के साथ एक बंदूक भी बरामद हुई है।

जब्त किए गए अमेरिकी डॉलर का भारतीय करंसी में मूल्य 4.2 करोड रुपए है।

6 लोगों की गिरफ्तारी

क्राइम ब्रांच ने बताया कि जिन छह लोगों को गिरफ्तार किया गया उनके नाम शेख अलीम (36), सुनील सारडा (40), अब्दुल गनी (43), अब्दुलगानी खान (18), रितेश रत्नाकर (34) और तुफेल अहमद (28) हैं। शेख अलीम खान खड़की में बॉम्बे सैपर्स बटालियन में नायक के पद पर कार्यरत है।

Leave a Reply