सुमोना चक्रवर्ती से लेकर सिंगर विशाल डडलानी तक ने ऐसे छोड़ी सिगरेट

Breaking News Entertainment

मुंबई। धूम्रपान कई लोगों के जीवन को प्रभावित करके एक घातक लत बन सकता है। 31 मई को मनाए जाने वाले विश्व तंबाकू निषेध दिवस के मौके पर जानते हैं कि किन सेलेब्स इस लत से निजाद पा चुके हैं। और उनके लिए ये सफर तय करना कितना कठिन रहा है।

मुझे खुद पर ही घृणा आती थी: ‘रोडीज’ फेम रघु राम

बातचीत के दौरान ‘रोडीज’ फेम रघु राम बताते हैं, “मुझे चार साल हो गए सिगरेट को हाथ लगाए। मेरी ये एक ऐसी आदत थी जिसे लेकर मुझे खुद पर ही घृणा आती थी। दिन में 20 सिगरेट्स पीता था।, हर बार कोशिश करता था, इस लत से छुटकारा पाने की, लेकिन आसान नहीं था। चार साल पहले मेरी मुलाकात नेटली दी लुसियो से हुई। उसने कभी सिगरेट को हाथ तक नहीं लगाईं थी। मुझे अच्छा नहीं लगता लेकिन फिर एक दिन मैंने नेटली के लिए ये लत छोड़ने का फैसला लिया। शुरुआत में बहुत दिक्कतें आईं, कई बार ऐसा लगा की फिर से हाथ में सिगरेट थाम लूं लेकिन हर बार नेटली के प्यार ने मुझे मोटिवेट किया। अप्रैल 26, 2016 को मैंने सिगरेट पीना छोड़ दिया था और मैं हर साल इस दिन को सेलेब्रेट करता हूं।

कोशिश करने के बाद मैंने सिगरेट छोड़ी: सिंगर विशाल डडलानी

सिंगर विशाल डडलानी कहते हैं, “दिन में 40 सिगरेट्स पीता था सिगरेट के पैकेट के ऊपर छपी चेतावनी पढ़ने के बावजूद उसे नजरअंदाज करता था। शुरूआत में अच्छा लगता था, ये कब आदत बन गई पता ही नहीं चला। इस आदत ने मेरे करियर में एक ब्रेक सा लगा दिया था। मैं इतनी सिगरेट्स पीता था की मेरी आवाज खराब हो गई थी। तकरीबन 8 से 9 साल तक ये सिलसिला चला। लंबे समय तक कोशिश करने के बाद मैंने सिगरेट छोड़ने में सफलता पाई और वापस से अपनी वही आवाज पाई। यकीन मानिए, ये एक संघर्ष भरा जर्नी था। इस बुरी आदत को छोड़ना आसान नहीं होता हैं। एक वक्त ऐसा आया था जब मैं चाहकर भी गा नहीं पा रहा था। पिछले साल अगस्त में मैंने धूम्रपान छोड़ दिया था। मेरा क्लीन टोन वापस आ गया है। मैं दर्द महसूस करने के बजाय फिर से गाते हुए खुश हूं।

लॉकडाउन ने लोगों के लिए धूम्रपान करना मुश्किल बना दिया: ‘थप्पड़’ अभिनेता हर्ष ए सिंह

‘थप्पड़’ अभिनेता हर्ष ए सिंह ने कहा, “मुझे खुशी है कि इस लॉकडाउन ने लोगों के लिए धूम्रपान करना मुश्किल बना दिया। किसी के पास भी धूम्रपान करने का कोई बड़ा कारण नहीं है। मैं कई सालों से धूम्रपान करने वाला व्यक्ति था ये जानने के बावजूद कि इसका स्वाद बुरा होता हैं, भयानक खुशबू आ रही है, आप भयानक महसूस करते हो, आपके फेफड़ों को प्रभावित करता है, आदि। एक बार यह आदत बन जाती है, यह आपके साथ रहता है। इसे छोड़ना बहुत कठिन है, इसलिए यदि लोगों ने छोड़ दिया है, तो यह शानदार है, इसके लिए आपको गर्व होना चाहिए।

अब मेरा शरीर स्मोकिंग को नकार चुका है: सुमोना चक्रवर्ती

सुमोना चक्रवर्ती स्मोकिंग की आदी थी। लेकिन अब वो सिगरेट को पूरी तरह छोड़ चुकी हैं हालांकि उनके लिए ऐसा करना आसान नहीं था। सुमोना ने बताया, “करीब 3 साल पहले मेरे एक दोस्त के जन्मदिन पर मैंने स्मोकिंग छोड़ने का फैसला किया। मैंने सिगरेट को हाथ भी नहीं लगाया। बिल्कुल भी नहीं। निकोटिन को छुआ भी नहीं। यह एक बहुत मुश्किल भरी जर्नी थी और अब मेरा शरीर स्मोकिंग को नकार चुका है। अब मैं ऐसे कमरे में खड़ी भी नहीं हो सकती जहां दूसरे लोग स्मोकिंग कर रहे हों। सुमोना आगे कहती हैं कि ‘स्मोकिंगं छोड़ना काफी मुश्किल होता है जब तक आप नहीं छोड़ते। बाद में यह आसान था।

Leave a Reply