अगर ब्लड शुगर की समस्या से जूझ रहे हैं तो आजमाएं ये उपाय

National News Room

आजकल के समय खराब लाइफस्टाइल और खानपान के कारण ब्लड शुगर की समस्या आम हो चुकी हैं। जिसके कारण डायबिटीज के मरीजों को अपने खानपान में काफी सावधानियां बरतनी पड़ती हैं। जरा सी चूक ब्लड शुगर को नीचे ले आती है जिससे सेहत संकट में आ जाती है।

जिस तरह हाई ब्लड शुगर (Blood Sugar) सेहत के लिए खतरनाक है उसी तरह लो ब्लड शुगर भी नुकसानदेय साबित होता है। ब्लड शुगर कम होने की स्थिति को हाइपोग्लाइसीमिया के नाम से जाना जाता है। अगर इस बीमारी को समय रहते कंट्रोल नहीं किया गया तो किडनी, हार्ट और लिवर के लिए भी खतरनाक साबित हो सकता है। जानिए लो ब्लड प्रेशर के कारण, लक्षण और कैसे घर पर करें कंट्रोल।

ब्लड में शुगर लेवल 70 mg/dl या इससे कम हो जाने को लो ब्लड शुगर या हायपोग्लायसीमिया कहा जाता है।

लो ब्लड शुगर के लक्षण

  • थकान महसूस होना
  • दिल में घबराहट
  • हाथ-पैर कांपना
  • अधिक पसीना आना
  • नींद के दौरान रोना
  • चिड़चिड़ापन
  • हमेशा चिंता में रहना
  • किसी बात को नहीं समझ पाना
  • देखने में परेशानी होना
  • बेहोश होना
  • स्किन का पीला पड़ जाना।
  • सिरदर्द
  • भूख अधिक लगना।
  • मुंह के चारों ओर सनसनी सा महसूस होना।

 लो ब्लड शुगर होने का कारण

हाइपोग्लाइसीमिया तब होता है जब शरीर के खून में शर्करा यानी ग्लूकोज की मात्रा कम हो जाती हैं। ऐसा कई कारणों से हो सकता है। बहुत कम खाना या देर से खाना खाना, ब्रेकफास्ट के बिना अधिक एक्सरसाइज करना भी लो ब्लड शुगर का ही कारण हो सकते हैं। कई बार तनाव और अधिक दवा के सेवन के कराण भी इस समस्या का सामना करना पड़ता है।

लो ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए घरेलू उपाय

फल

फल

फलों का सेवन

ऐसे फूड्स का सेवन करें जिसमें अधिक मात्रा में पानी और फाइबर पाया जाता है। कई रिसर्च में यह बात सामने आई है कि जो लोग पूरे फल खा रहे थे, विशेषकर ब्लूबेरी, अंगूर और सेब, उनमें टाइप 2 डायबिटीज के विकास के जोखिम काफी कम होता है। इसलिए आप एक या आधा कप फलों का जूस पिएं।

दूध

दूध

दूध
ये बात हम अच्छी तरह से जानते हैं कि डायबिटीज के मरीजों को दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसे में अगर आपको लो ब्लड प्रेशर की समस्या है तो दूध आपके लिए रामबाण साबित हो  सकता है। इसलिए नियमित रूप से 1 कप दूध पिएं।

शुगर

शुगर

शुगर या कैंडी
लो ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए आप 1 चम्मच शुगर या फिर कैंडी का सेवन कर सकते हैं।

लहसुन का सेवन
लहसुन में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो डायबिटीज के साथ-साथ कई बीमारियो से आपका बचाव करता है। लहसुन में ऐसे यौगिक पाए जाते हैं जो ब्लड शुगर को नॉर्मल करके इंसुलिन संवेदनशीलता और स्राव में सुधार करते है।

दही

दही

दही
रोजाना सादा दही खाने से टाइप 2 डायबिटीज का खतरा कम हो सकता है। कई रिसर्च में ये बात सामने आई कि दही एकमात्र ऐसा डेयरी उत्पाद हो सकता है जो स्थिति को विकसित करने के जोखिम को कम करता है। इसके अलावा दही में बहुत ही कम GI होता है।

ड्राई फूट्स
ड्राई फूड्स में अधिक मात्रा में फाइबर के साथ-साथ विटामिन्स, एंटी ऑक्सीडेंट, मिनरल्स, पोटैशियम पाया जाता है। जो लो ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है।

लो ब्लड प्रेशर वाले मरीज 4-5 घंटे बाद कुछ  न कुछ जरूर खाएं। स्नैक्स के अलावा कम से कम 3 बार भोजन करें। खाना खाने के बाद करीब 1 या आधा घंटा एक्सरसाइज जरूर करें।

मेडिटेशन

मेडिटेशन

निरंतर ब्लड शुगर करें चेक 
व्यायाम से पहले और बाद में अपनी शुगर की जाँच करें। इसके बारे में अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

अल्कोहाल का सेवन
अगर आप अल्कोहाल लेते हैं तो अपनी शुगर की निरंतर जांच करते रहें।

Leave a Reply