लॉकडाउन के दौरान नैनीताल की झीलों में आया सुधार, पहले से साफ दिख रहा पानी

Breaking News Uttrakhand

देहरादून। लॉकडाउन में नैनीताल और भीमताल झीलों की सेहत में काफी सुधार आया है। उत्तराखंड पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (पीसीबी) द्वारा लॉकडाउन के दौरान दोनों झीलों के पानी पर पड़े असर के मद्देनजर की गई जांच में ये बात सामने आई है। आंकड़ों के मुताबिक नैनी झील में मार्च के मुकाबले घुलित ऑक्सीजन (डीओ) की मात्रा में 21 फीसद का इजाफा हुआ है, जबकि बॉयोलॉजिकल ऑक्सीजन डिमांड (बीओडी) में 95 फीसद की कमी दर्ज की गई है। इसके साथ ही टोटल कॉलीफार्म की मात्रा में भी 40 फीसद की कमी आई है। इसी प्रकार भीमताल की झील में भी डीओ बढ़ा है, जबकि बीओडी व टोटल कॉलीफार्म में कमी आई है। यह दोनों झीलों के जलीय पर्यावरण के लिए काफी हद तक ठीक है। हालांकि, दोनों के जल की गुणवत्ता अभी भी ‘सी’ और ‘डी’ कैटेगरी में ही है।

नैनीताल झील दुनियाभर के पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है। सामान्य दिनों में बड़ी संख्या में सैलानी नैनीताल का रुख करते हैं, लेकिन वर्तमान में लॉकडाउन के बाद नैनीताल में भी पर्यटन समेत सभी गतिविधियां बंद हैं। लोग घरों तक सीमित हैं। ऐसी ही स्थिति भीमताल की भी है। इसे देखते हुए पीसीबी ने लॉकडाउन के दौरान नैनीताल झील के साथ भीमताल झील के पानी पर पड़े असर को जांचने का निर्णय लिया गया। पीसीबी के मुख्य पर्यावरण अधिकारी एवं देहरादून स्थित केंद्रीय प्रयोगशाला के प्रभारी एसएस पाल के अनुसार आठ अपै्रल को दोनों झीलों से पानी के नमूने लिए गए।

मुख्य पर्यावरण अधिकारी पाल ने नैनीताल झील के आंकड़ों की जानकारी देते हुए बताया कि नैनी झील में मार्च में घुलित ऑक्सीजन की मात्रा 6.8 मिलीग्राम प्रति लीटर थी, जो अब बढ़कर 8.6 हो गई है। इसके अलावा बीओडी पहले 20 मिग्रा प्रतिलीटर था, जो अब 1.0 पर आ गया है। टोटल कॉलीफार्म (बैक्टीरियल तत्व) पहले 5594 प्रति सौ मिली था, जो अब 5119 है। उन्होंने बताया कि भीमताल झील में मार्च में डीओ की मात्रा पहले 7.8 थी, जो अब 9.2 हो गई है। भीमताल में बीओडी भी 12 से घटकर 0.8 और टोटल कॉलीफार्म 4284 से घटकर 2406 पर आ गया है। उन्होंने बताया कि नैनीताल झील के पानी की गुणवत्ता डी श्रेणी (मत्स्य पालन व वन्यजीवों के लिए ही उपयुक्त) में है, जबकि भीमताल झील की गुणवत्ता सी श्रेणी (पानी को प्रॉपर ट्रीटमेंट के बाद पीने के उपयोग में लाना) में है।

Leave a Reply