प्रधानमंत्री की अपील के बाद कुम्हारों को मिली राहत, पढ़िये ख़बर

Breaking News Uttrakhand

देहरादून। प्रधानमंत्री की पाच अप्रैल को दीये जलाकर एकजुटता दिखाने की अपील के बाद देहरादून में मिट्टी के बर्तन बनाने वाले कुम्हारों के चेहरे खिल उठे हैं। पिछले कई महीनों से ग्राहकों का इंतजार कर रहे कुम्हारो को दो दिनों में ही छोटे और बड़े दीये के काफी ऑर्डर मिले हैं। विभिन्न सामाजिक और धार्मिक संगठनों ने कुम्हार मंडी में कुम्हारों को दीये की बुकिंग दे दी है, ताकि वे इन्हें विभिन्न जगहों में जरूरतमंदों को भेज सकें।

शनिवार को कुम्हार मंडी में कुम्हार दीये बनाते नजर आए। कुम्हार मंडी में मिट्टी के कारीगर आशीष ने बताया कि यहा कुछ लोगों ने छोटे व बड़े दिए के पाच-पाच के पैकेट बनवाने के ऑर्डर दिए हैं। जिन्हें रविवार सुबह तक तैयार किया जाएगा। कुछ समय बंद होने के बाद दो दिनों से उनकी शॉप दीवाली के समय जैसी चल रही है। वहीं राहुल ने बताया कि जनवरी से अब तक उनके यहा से करीब 300 छोटे और बड़े दीये की बिक्री हुई। लेकिन, शुक्रवार शाम को कुछ लोगों ने उन्हें 700 दिये के ऑर्डर दिए हैं।

शहर की कुम्हार मंडी के अधिकतर घरों में मिट्टी के बर्तन बनाने का काम होता है। मिट्टी के इन बर्तनों को पकाने के लिए लगी आग पिछले कुछ समय से ठंडी पड़ चुकी थी। घर का खर्च भी निकालना मुश्किल हुआ तो परिवार के अधिकतर लोगों ने दूसरे शहरों का रुख कर लिया। इस बार अचानक मिट्टी के दीये की माग बढ़ गई। यह कहना है कुम्हार मंडी में मिट्टी के बर्तन बनाने वाले शीशपाल और नवीन का। वह बताते हैं कि दीपावली के बाद पुश्तैनी काम की सफलता का जश्न एक-दो दिनों से यहा के हर घर में दिख रहा है।

Leave a Reply