तब्लीगी जमात की वजह से देश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों के मामले: केंद्र

Breaking News National

नई दिल्ली। निजामुद्दीन मरकज से देश के विभिन्न हिस्सों में पहुंचन वाले लोगों ने दिक्कतें बढ़ाई हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि तब्लीगी जमात के लोगों की वजह से 14 राज्यों में 647 मामले बढ़ गए। मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा- “लोगों को यह समझना होगा कि एक गलती की वजह से सारी कोशिशें फेल हो सकती हैं। हमने राज्यों से कहा है कि डॉक्टरों और नर्सों पर हमला करने वालों से सख्ती से निपटें। मंत्रालय ने आरोग्य ऐप जारी किया है और लोगों के अपील की है कि इसके जरिए संदिग्धों की पहचान करें।” दूसरी तरफ, केंद्र ने तब्लीगी जमात के 960 विदेशी सदस्यों को ब्लैक लिस्ट कर उनके वीजा रद्द कर दिए। इनमें 379 इंडोनेशियाई, 110 बांग्लादेशी, 9 ब्रिटिश, 4 अमेरिकी, 6 चीनी और 3 फ्रेंच नागरिक हैं। उधर, उत्तरप्रदेश सरकार ने फैसला लिया है कि ड्यूटी कर रही पुलिस पर हमला करने वालों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की जाएगी।

स्वास्थ्यकर्मियों पर हमले के मामले में सख्त कार्रवाई के निर्देश
गृह मंत्रालय की अधिकारी पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने बताया कि कैबिनेट सचिव की तरफ से सभी राज्य सरकारों को एक पत्र लिखा गया है। इसमें स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स पर हमले के मामले में सख्त कार्रवाई करने को कहा गया है। स्वास्थ्यकर्मियों और अन्य लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का भी आदेश दिया गया है। जनता के लिए दो नई हेल्पलाइन नंबर की शुरुआत की गई है। ये हैं- 1930 (ऑल इंडिया टोल फ्री नंबर) और 1944 (नॉर्थ ईस्ट के लिए डेडिकेटेड)। इस पर कोई भी कोरोना और लॉकडाउन से जुड़ी जानकारी हासिल कर सकता है।

गृह मंत्रालय ने कहा- किसान मंडी जा सकेंगे, कटाई कर सकेंगे

स्वास्थ्य मंत्रालय, गृह मंत्रालय और आईसीएमआर के अफसरों ने शुक्रवार को कोरोनावायरस से जुड़ी जानकारियां साझा कीं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले दो दिनों में तब्लीगी जमात की वजह से 14 राज्यों में कोरोना फैल चुका है। मरकज में शामिल होने वाले 647 लोग संक्रमित पाए गए हैं। पिछले 24 घंटों में हुई 12 मौतों में से कई तब्लीगी जमात से जु़ड़े हुए हैं। गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को किसानों को लॉकडाउन से किसानों को बड़ी राहत दी है। अब देशभर के किसान सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए खेती कर पाएंगे। किसान मंडी जा सकेंगे। गेहूं की कटाई भी कर सकेंगे। आईसीएमआर के डॉ. मनोज ने बताया कि देश के 182 लैब में कोरोना सैंपल की जांच हो रही है। इसमें 130 सरकारी क्षेत्र के लैब हैं। गुरुवार को 8 हजार सैंपल्स की टेस्टिंग हुई है। अभी तक कुल 63000 लोगों की जांच हो चुकी है।

दिल्ली में एक जमाती की मौत, मरकज में शामिल होने वाले 259 संक्रमित
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि मरकज से निकाले गए एक संक्रमित की शुक्रवार को मौत गई। अब दिल्ली में मरने वालों की संख्या 5 हो चुकी है। दिल्ली में 384 मामलों की पुष्टि हुई है। इनमें 91 मामले पिछले 24 घंटों में आए हैं। 58 संक्रमित विदेश यात्रा से लौटे हैं। जबकि 259 संक्रमित ऐसे हैं जिन्होंने मरकज में शिरकत की थी। दो की हालत गंभीर है। केजरीवाल के मुताबबिक, दिल्ली में 328 राहत केंद्रों का संचालन हो रहा है। इसमें 57 हजार लोगों को खाने-पीने व अन्य सभी जरूरी चीजें दी जा रही हैं। दिल्ली सरकार ने वाट्सएप हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया। केजरीवाल ने बताया कि कोई भी 8800007722 पर कोरोना से जुड़ी जानकारी हासिल कर सकता है।

आज 98 नए मामले सामने आए, 63 तब्लीगी जमात से जुड़े
शुक्रवार को देश में संक्रमण के 98 नए मामले सामने आए। उत्तरप्रदेश में 44, राजस्थान में 21, आंध्रप्रदेश में 12, हरियाणा में 8, गुजरात में 7, दिल्ली में 2, साथ ही महाराष्ट्र, कर्नाटक, गोवा और जम्मू-कश्मीर में 1-1 मरीज मिला है। कुल संक्रमितों की संख्या 2 हजार 657 हो गई है। 191 लोग ठीक हुए हैं और 73 की मौत हुई है। ये आंकड़े covid19india.org वेबसाइट के मुताबिक हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 हजार 301 है। 2 हजार 88 का इलाज चल रहा है। 156 ठीक हो चुके हैं और 56 लोगों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को उत्तरप्रदेश और राजस्थान में 65 लोग संक्रमित मिले। इनमें से 63 दिल्ली की तब्लीगी जमात से लौटे थे।

Leave a Reply