कोरोनावायरस पर सरकार ने उठाये ये सख्त कदम, पढ़िये खबर

Breaking News National

नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस के कारण 4 मौतें होने के बाद सरकार ने अपनी एडवायजरी सख्त कर दी है। साथ ही, यात्रा से जुड़े कुछ और प्रतिबंध लगा दिए हैं। सरकार ने गुरुवार को फैसला लिया कि 22 मार्च से देश में किसी भी इंटनरेशनल कमर्शियल पैसेंजर फ्लाइट को आने की इजाजत नहीं दी जाएगी। यह प्रतिबंध एक हफ्ते के लिए रहेगा। सरकार ने 10 साल से कम उम्र के बच्चे और 65 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों को घर में ही रहने की हिदायत दी है।

सरकार की एडवायजरी
1. 10 साल से कम उम्र के सभी बच्चे घर में रहें।
2. राज्य सरकारें 65 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों को घर में ही रहने की एडवायजरी जारी करें। यह एडवाजयरी मेडिकल स्टाफ, गवर्नमेंट स्टाफ, मेडिकल प्रोफेशनल्स और जनप्रतिनिधियों पर लागू नहीं होगी।
3. रेलवे और सिविल एविएशन छात्रों, मरीजों और दिव्यांग कैटेगरी में यात्रा करने पर दी जाने वाली रियायतों को सस्पेंड करें।

4. मास्क और सैनिटाइजर्स के ज्यादा दाम वसूलने वालों के खिलाफ फार्मा डिपार्टमेंट और उपभोक्ता मामलों का विभाग कार्रवाई करे।

इससे पहले सरकार ने 5 पॉइंट की ये एडवायजरी जारी की थी

  • देशभर में स्कूल, कॉलेज, स्वीमिंग पूल और मॉल 31 मार्च तक बंद रखे जाएं।
  • 31 मार्च तक लोग एक-दूसरे से एक मीटर की दूरी बनाए रखें।
  • अगर जरूरी न हो तो लोग बसों, ट्रेनों और विमानों की यात्रा से बचें।
  • प्राइवेट सेक्टर में जहां तक संभव हो, संस्थान अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की इजाजत दें।
  • स्थानीय प्रशासन नेताओं और धर्मगुरुओं से बात करें ताकि वे अपनी सभाओं में ज्यादा लोगों का जमावड़ा कंट्रोल कर सकें।

इंटरनेशनल पैसेंजर फ्लाइट्स पर एक हफ्ते की रोक
सरकार ने पहले यूरोपियन यूनियन, तुर्की और ब्रिटेन से भारत आने वाले यात्रियों की एंट्री पर 18 मार्च से रोक लगा दी थी। अब सरकार ने सभी इंटरनेशनल पैसेंजर फ्लाइट्स पर 22 मार्च से 29 मार्च के बीच रोक लगाने का फैसला लिया है। वहीं, विस्तारा ने अपनी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें 23 मार्च से 15 अप्रैल के बीच बंद रखने का फैसला किया है।

सार्क फंड अमल में आया, इटली से इसी हफ्ते भारतीयों की वापसी
इस बीच, विदेश मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 74 करोड़ रुपए के जिस सार्क इमजरेंसी फंड का प्रस्ताव रखा था, वह अमल में आ चुका है। सदस्य देश मदद की गुजारिश कर रहे हैं। मंत्रालय ने कहा कि इटली से इस हफ्ते के आखिर तक भारतीयों को यहां ले आया जाएगा। ईरान से 201 भारतीयों को बुधवार को भारत लाया जा चुका है। वहीं, ईरान में जो कोरोना पॉजिटिव भारतीय मौजूद हैं, उन्हें अच्छा मेडिकल केयर मिल रहा है।

Leave a Reply