उत्तराखंड में जारी है बारिश और बर्फबारी का सिलसिला

Breaking News Uttrakhand

देहरादून। उत्तराखंड में लगातार दूसरे दिन आज यानी शनिवार को भी मैदानी इलाकों में बारिश और पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी का सिलसिला जारी है। इससे मार्च में जनवरी जैसी ठंड पड़ रही है। राज्य के अधिकतर मैदानी इलाकों में शुक्रवार से ही मौसम खराब है। शनिवार सुबह भी इन इलाकों में रुक-रुक कर बारिश जारी रही। देहरादून में भी रुक-रुक कर बारिश जारी है।पहाड़ी इलाकों की बात करें तो यहां भी मौसम खराब है। चमोली जिले में मौसम में आए बदलाव के कारण जबरदस्त ठंड पड़ रही है। शनिवार को भी बदरीनाथ धाम, हेमकुंड साहिब के साथ ही फूलों की घाटी, रुद्रनाथ, लाल माटी, नंदा घुंघटी, पाणा, ईराणी, झींझी के साथ ही ऊंचाई वाले लगभग 40 गांवों में बर्फबारी हुई।

घाट विकास खंड के बंगाली, भेटी, लाखी, कनोल, सतोली, घूनी, रामणी, पगना आदि गांवों में खेतों में बर्फ जम गई है। बर्फबारी से काश्तकार काफी परेशान हैं। खेतों में बर्फ जमी होने के कारण अभी तक ग्रामीण आलू की बुआई नहीं कर पाए हैं। क्षेत्र में गांवों में बर्फ से खेत भरे पड़े हैं।रुद्रप्रयाग जिले में लगातार दूसरे दिन भी दिनभर रुक-रुककर हल्की बारिश होती रही। इस दौरान केदारनाथ समेत अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी हुई है, जिससे निचले इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। बीते शुक्रवार दोपहर से शुरू हुई बारिश शनिवार को भी दिनभर रुक-रुककर होती रही। वहीं, केदारनाथ धाम में अभी तक लगभग तीन फीट नई बर्फ गिर चुकी है।

जबकि पहले से वहां नौ फीट से अधिक बर्फ जमा है। इसके अलावा द्वितीय केदार मद्महेश्वर, तृतीय केदार तुंगनाथ, चंद्रशिला, चोपता, कालशिला में भी जमकर बर्फबारी हुई है। वहीं, त्रियुगीनारायण, चिलौंड, चौमासी, तोषी समेत अन्य ऊंचाई वाले गांवों में भी बर्फबारी से कड़ाके की ठंड पड़ रही है।साथ ही लोगों का जनजीवन भी प्रभावित हुआ है। खराब मौसम के कारण गांवों में खेतीबाड़ी पर भी व्यापक असर पड़ रहा है। टिहरी जिले में झमाझम बारिश का सिलसिला जारी रहा। जिले के ऊचाई वाले क्षेत्र धनोल्टी, काणाताल, सेम-मुखेम और गंगी क्षेत्र में हल्की बर्फबारी हुई। इस सीजन की यह रिकॉर्ड 16वीं बर्फबारी है।

Leave a Reply