मैदानी में बारिश और पहाड़ी क्षेत्रों बर्फबारी से बढ़ी ठंड

Breaking News National

देहरादून। उत्तराखंड के सात जिलों में आज भारी बारिश और बर्फबारी हो सकती है। मौसम विभाग ने ज्यादातर क्षेत्र में बारिश, ओलावृष्टि और बर्फ गिरने का अनुमान जताया है। वहीं, कई मैदानी क्षेत्रों में तेज झोकेदार हवा चल सकती है। वहीं आज शुक्रवार को तड़के से राजधानी देहरादून में बूंदाबांदी जारी है। बारिश के साथ चल रही तेज हवाओं ने ठंड से बेहाल कर दिया है। राज्य के अधिकतर इलाकों को मौसम ऐसा ही बना हुआ है।चारधाम समेत ऊंची चोटियों और पिथौरागढ़ के उच्च हिमालय पर गुरुवार को हुई बर्फबारी से सर्दी बढ़ गई है। आज तड़के से लगभग सभी मैदानी इलाकों में रुक-रुककर बारिश हो रही है। चमोली, रुद्रप्रयाग जिले में बादल छाए हुए हैं।

तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। जिससे एक बार फिर लोगों ने गर्म कपड़े निकाल लिए। भराड़ीसैंण में तापमान पांच डिग्री पहुंच गया है। उत्तरकारी और टिहरी में भी रुक-रुक कर बारिश होती रही।
मौसम केंद्र की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार राजधानी देहरादून, टिहरी, पौड़ी, अल्मोड़ा, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर और नैनीताल में ज्यादातर स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। वहीं प्रदेश के तीन हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फ गिरने का अनुमान है। कुछ हिस्सों में ओले गिरने की आशंका भी जताई गई है।

शुक्रवार और शनिवार को मौसम खराब रहेगा

मौसम विभाग के अनुसार हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, देहरादून और नैनीताल के कुछ क्षेत्रों में 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से झोकेदार हवा भी चल सकती है।  मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि राजधानी दून और आसपास के इलाकों में भी बादल छाये रहने का अनुमान है।

तेज गरज और चमक के साथ बारिश भी हो सकती है। उन्होंने तेज हवाओं से बचने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार और शनिवार को मौसम खराब रहेगा। रविवार को मौसम में सुधार हो सकता है।

सुबह बारिश और दिन भर चलीं सर्द हवाएं

पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम ने फिर करवट बदल ली है। कुमाऊं के अधिकांश इलाकों में बृहस्पतिवार सुबह बारिश हुई और पिथौरागढ़ के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हिमपात हुआ। उसके बाद दिन भर सर्द हवाएं चलती रहीं। 

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि छह मार्च को तीन हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी की संभावना है, जबकि उत्तराखंड में कहीं-कहीं ओलावृष्टि हो सकती है। मैदानी क्षेत्रों में 30 से 40 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। सात मार्च को ओलावृष्टि और तेज हवाएं चल सकती हैं। 

Leave a Reply