उत्तराखंड में हुए हिमस्खलन एवं बस हादसे में मारे गये लोगों की मौत पर जनसेवी भावना पांडे ने व्यक्त किया शोक

Breaking News News Room Uttrakhand

देहरादून। वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी, प्रसिद्ध जनसेवी एवं जनता कैबिनेट पार्टी (जेसीपी) की केंद्रीय अध्यक्ष भावना पांडे ने उत्तरकाशी में हिमस्खलन में मारे गए पर्वतारोहियों एवं पौड़ी जिले में बस हादसे में हुई बारातियों की मौत पर दुःख जताया है।

गौरतलब है कि पौड़ी जिले के सिमड़ी के पास 55 बारातियों से भरी एक बस 300 मीटर नीचे नदी में गिर गई। इस बस हादसे में 33 लोगों की मौत की सूचना प्राप्त हुई है। दुर्घटना में अन्य लोगों को गंभीर चोटें आई हैं। वहीं उत्तरकाशी में द्रौपदी का डांडा में हुए हिमस्खलन हादसे में कईं पर्वतारोहियों की मृत्यु हो गई व कईं लापता हो गए। अभी तक इस घटना में 9 शव बरामद किए जा चुके हैं।

उत्तराखंड की बेटी भावना पांडे ने इन दोनों घटनाओं में मारे गए लोगों की मौत पर दुख प्रकट किया एवं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की। साथ ही लापता पर्वतारोहियों के सकुशल मिलने की प्रार्थना की। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि गुमशुदा पर्वतारोहियों की तलाश एवं रेस्क्यू अभियान में तेजी लाई जाए।

जनसेवी भावना पांडे ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि पौड़ी बस दुर्घटना में घायल हुए लोगों के सही उपचार की व्यवस्था की जाए एवँ सरकार द्वारा उनकी हरसंभव मदद की जाए। इसके साथ ही उन्होंने मृतकों और घायलों के परिजनों को उचित मुआवजा देने की मांग भी सरकार से की।

जेसीपी अध्यक्ष भावना पांडे ने सरकार से कोटद्वार के बेस अस्पताल की सुविधाओं को दुरुस्त करने की मांग की, बता दें कि इसी अस्पताल में बस हादसे के घायलों का उपचार किय जा रहा है। वहीं उन्होंने पौड़ी के सिमड़ी बस दुर्घटना की न्यायिक जांच की मांग भी की। उन्होंने घटना को अत्यंत दु:खद और दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि गढ़वाल और कुमाऊं की अधिकांश सड़कों की हालत बेहद खराब है जिस कारण दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है। सरकार राज्य की सभी सड़कों की सुध ले।

Leave a Reply