जन गीतों के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण का संदेश देंगे डॉ. सोनी

News Room Uttrakhand

देहरादून। देवो को प्रसन्न करने के लिए संस्कृति लोक कॉलोनी ब्राह्मणवाला में प्रातः कालीन भजनों के साथ देवकार्य सम्पन्न हुआ, जिसमें वृक्षमित्र डॉ. त्रिलोक चंद्र सोनी ने “घर में पधारो गजानन जी मेरे घर में पधारो” व “आ  मॉ आ तुझे दिल ने पुकारा” भजनों से भक्तजनों को झूमने को मजबूर किया तथा भक्तजनों ने जय जय कार की पुकार से देवो का आह्वान किया।

पर्यावरण के क्षेत्र में अनोखे कार्य कर रहे पर्यावरणविद वृक्षमित्र डॉ. सोनी एक नए रूप में दिखे लेकिन वहां भी उन्होंने वृक्षमित्र की पहचान दिलाने वाले अपनी हरी पोशाक पहनी थी। बताते चले कि संस्कृति लोक कॉलोनी ब्राह्मणवाला में नव निर्मित मंदिर में मूर्तियों का प्राण प्रतिष्ठान का कार्य किया गया हैं, जिसका विधिवत भण्डारे के साथ समापन किया गया हैं।

पर्यावरणविद वृक्षमित्र डॉ. त्रिलोक चंद्र सोनी ने कहा कि भजनों में इतनी शक्ति हैं कि भगवान को अपने बस में कर देते हैं जब भगवान इन गीतों से बस में हो जाते हैं तो मैं भी पर्यावरण संरक्षण, सम्बर्द्ध व वृहद पौधारोपण के लिए गीतों के माध्यम से जागरूक व प्रेरित करूंगा ताकि एक स्वच्छ, सुंदर व प्रदूषण मुक्त वातावरण बन सके।

उन्होंने ने कहा कि मॉ सरस्वती का आशीर्वाद रहा तो जल्द ही पर्यावरण जन गीतों के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण, सम्बर्द्ध के लिए लोगो को जागरूक व प्रेरित किया जाएगा। मंदिर समिति के अध्यक्ष संग्राम सिंह नेगी ने कहा कि हमने अपनी कॉलोनी में एक नई परम्परा प्रारम्भ की है जिसे हम हर वर्ष मनाएंगे। आने वाले समय में इसको वृहद रूप दिया जाएगा। कार्यक्रम में अंजू धस्माना, गीता शर्मा, पं. सुशील जखमोला, सुभाष डोबरियाल, रूपसिंह रावत, कुलदीप सिंह, राजपाल विष्ट, चंद्रमोहन लखेड़ा व अन्य लोग शामिल थे।

Leave a Reply