फिर बदला मौसम का मिज़ाज़, मसूरी और चकराता में बर्फबारी के आसार

News Room Uttrakhand

देहरादून। उत्तराखंड में मौसम ने एक बार फिर करवट ली है। गुरुवार को राजधानी देहरादून में सुबह से बादल छाए रहने के बाद बूंदाबांदी हुई। रुद्रप्रयाग सहित केदारनाथ में बादल छाए रहे। यहां बारिश और बर्फबारी की संभावना बनी हुई है। चमोली जिले में देर रात से हो रही बारिश आज सुबह आठ बजे थमी। यहां आसमान में बादल छाए हैं। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में रुक-रुककर बर्फबारी हो रही है। कड़ाके की ठंड से लोगों का जीना मुहाल हो गया है।

रुद्रप्रयाग में दोपहर 12 बजे बाज बारिश शुरू हो गई। वहीं केदारनाथ में बर्फबारी हुई। सुबह से जिला मुख्यालय सहित जिले में घने बादल छाए हुए थे। निचले इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। जबकि केदारनाथ में रुकरुक कर बर्फ़बारी ही रही है। चोपता, तुंगनाथ, मदमहेश्वर सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी बर्फबारी हो रही है।

मौसम में आए इस बदलाव से राज्य में ठंड बढ़ गई है। प्रदेश के पांच जिलों में अगले 24 घंटों के दौरान बारिश और ओलावृष्टि हो सकती है। मौसम विभाग ने इसकी चेतावनी जारी की है। जबकि अन्य जिलों में बादल छाए रहने का अनुमान है। मौसम केंद्र की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार देहरादून के साथ हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में बारिश हो सकती है।

कुछ इलाकों में ओले गिरने का भी अनुमान है। पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी भी हो सकती है। केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश के अन्य स्थानों पर भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। बादल छाने और बारिश से दिन के तापमान गिरने की संभावना है। हालांकि रात का तापमान सामान्य बना रहेगा।

बुधवार को भी देहरादून समेत तमाम पर्वतीय जिलों में घने बादल छाये रहे। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार राज्य में एक बार फिर से पश्चिमी विक्षोभ पहुंचा है। जिस कारण 31 जनवरी को मसूरी, चकराता, धनोल्टी समेत दो हजार या इससे ऊंचाई के इलाकों में बारिश और हिमपात हो सकता है। चारों धामों में भी भारी हिमपात की आशंका है।

Leave a Reply