बड़े परदे पर उतरेगा उत्तराखंड के पूर्व सीएम का जीवन, मनीष वर्मा बनाएंगे बायोपिक

Entertainment Uttrakhand

देहरादून। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी अब हमारे बीच नहीं हैं किंतु उत्तराखंड के एक प्रसिद्ध फ़िल्म निर्माता उनके जीवन को सिनेमा के पर्दे पर उतारने जा रहे हैं। ये विख्यात निर्माता एवँ निर्देशक हैं मनीष वर्मा। उन्होंने हाल ही मेंं उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्रीस्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी के जीवन पर फ़िल्म बनाने की घोषणा की है।

गौरतलब है कि उत्तराखंड बनने के बाद फ़िल्म निर्माता निर्देशक मनीष वर्मा की पहली गढ़वाली फ़िल्म जिसने कई रिकॉर्ड बना कर 16 पुरस्कार प्राप्त किये थे वो है ‘अंजवाल।’ जो कि सुपरहिट रहने के साथ देशभर के मल्टीप्लेक्स में एक साथ रिलीज़ हुई और जिसने पहली बार बॉक्स ऑफिस पर गढ़वाली फिल्मों के लिए जगह बनाई। इसके टिकट ‘बुक माय शो’ पर धड़ाधड़ बिके व उसके बाद फ़िल्म निर्माता निर्देशक मनीष वर्मा की दूसरी सुपरहिट रही गढ़वाली फ़ीचर फिल्म ‘हैल्लो यूके’ ने भी इतिहास रचा।

अब मनीष वर्मा ने घोषणा की है कि वे उत्तराखंड में फ़िल्म उद्योग को स्थापित करने में पीछे नही रहने देंगे। भले ही उनकी पहली दो फिल्मों की सब्सिडी पिछले फ़िल्म बोर्ड में पास होने के बावजूद न मिली हो पर वो अपना मिशन जारी रखेंगे। इसी क्रम में निर्माता निर्देशक मनीष वर्मा ने घोषणा की है कि वो उत्तर प्रदेश के 4 बार, उत्तराखंड में 1 बार व केंद्र में लगभग हर विभाग के मंत्री एवं गवर्नर रहे स्व. नारायण दत्त तिवारी पर फ़िल्म बनायेगे, जिसका नाम होगा “The Victorius Chief Minister”.

मनीष वर्मा ने कहा कि तिवारी जी का जीवन विकास को समर्पित रहा है। उनकी फिल्म में उनके बाल्यकाल से अंतिम समय तक के सभी स्मरण दिखाए जाएंगे, जो दुनिया से तो हमेशा जीता पर अपनो के हाथों हार गया। फ़िल्म का टाइटल मनीष वर्मा को मिल गया है और जल्दी ही उत्तराखंड के पदमपुरी से इसकी शूटिंग प्रारम्भ की जाएगी। फिलहाल इस पर काम चल रहा है व स्पॉन्सर, डिस्ट्रीब्यूटर आदि से बात की जा रही है।फ़िल्म में उत्तराखंड व देश के कई राजनीतिक चरित्र कलाकार दिखाए जाएंगे तथा तिवारी जी के जीवन की मुख्य घटनाएं दिखाई जाएगी।

ज्ञात हो कि मनीष वर्मा को नारायण दत्त तिवारी की सरकार में राज्य मंत्री का दर्जा रहा है। वे तिवारी जी के बहुत निकट थे। तत्त्पश्चात हरीश रावत की सरकार ने उन्हें फ़िल्म बोर्ड का सदस्य बनाया था, जिसे उन्होंने अपनी वरिष्ठता के आधार पर स्वीकार करने से मना कर दिया था व ग्रहण नही किया था। श्री वर्मा के साथ मुम्बई के निर्माता, निर्देशक तिग्मांशु धूलिया व नरेंद्र सिंह नेगी जी ने भी पद ग्रहण नही किया था।

बहरहाल निर्माता-निर्देशक मनीष वर्मा द्वारा तिवारी जी के जीवन पर बायोपिक बनाने की घोषणा किये जाने के बाद उत्तराखंड की फ़िल्म इंडस्ट्री ‘हिलीवूड’ में हलचल मच गई है। जहाँ एक ओर भारी संख्या में स्थानीय कलाकार फ़िल्म में रोल पाने के लिए श्री वर्मा से सम्पर्क साध रहे हैं तो वहीं राजनीतिक हलकों व दर्शकों के बीच भी इस फ़िल्म को लेकर उत्साह देखा जा रहा है।

Leave a Reply