अखिलेश और मायावती के बीच हुई तकरार

Breaking News National

लखनऊ। बसपा अध्यक्ष मायावती ने लोकसभा चुनाव के परिणाम की समीक्षा के लिये सोमवार को उत्तर प्रदेश के पार्टी पदाधिकारियों और निर्वाचित जनप्रतिनिधियों की बैठक बुलाई थी। सूत्रों की माने तो इस बैठक में मायावती ने समाजवादी पार्टी से गठबंधन तोड़ने के संकेत दे दिए हैं। मायावती ने साफ कहा कि समाजवादी पार्टी के कार्यकर्तायों ने पूरे चुनाव में हमाारे खिलाफ काम किया है। उन्होंने कहा कि यादव वोट भी हमें नहीं मिले। मायावती ने दावा किया कि यादव वोट समाजवादी पार्टी को भी नहीं मिले और यही वजह रही कि यादव परिवार के लोग चुनाव हार गएं।

इसके अलावा मायावती ने कहा कि उनकी पार्टी उपचुनावों में सभी 11 सीटों पर लड़ेगी। उन्होंने कहा कि इस टुनाव में मुसलमानों ने बसपा को जमकर वोट दिया है और पार्टी उनकी आभारी रहेगी। दिल्ली स्थित बसपा कार्यालय में बैठक में पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष आर एस कुशवाहा, राज्य में पार्टी के सभी विधायक, नवनिर्वाचित सांसद, प्रदेश के सभी जोनल कोऑर्डिनेटर के अलावा सभी जिला अध्यक्षों को भी बुलाया गया था। 

उल्लेखनीय है कि बसपा प्रमुख मायावती लोकसभा चुनाव परिणाम की पिछले तीन दिनों से राज्यवार समीक्षा कर रही हैं। लोकसभा चुनाव में सपा के साथ गठबंधन के बावजूद पार्टी को उम्मीद के मुताबिक परिणाम नहीं मिल सके। सोलहवीं लोकसभा के चुनाव में एक भी सीट जीतने में नाकाम रही बसपा को हाल ही में संपन्न हुये चुनाव में उत्तर प्रदेश से महज 10 सीटों पर जीत हासिल हो सकी है।

Leave a Reply