उत्तराखंड में स्वाइन फ्लू से अबतक 15 लोगों की हुई मौत, ऐसे बरतें सावधानी

News Room Uttrakhand

देहरादून। उत्तराखंड में स्वाइन फ्लू का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। स्वाइन फ्लू से पीड़ित हरिद्वार निवासी महिला की श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। वहीं, तीन नए मरीजों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एस.के. गुप्ता ने बताया कि हरिद्वार निवासी 31 वर्षीय महिला को कुछ दिन पूर्व श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बुधवार को महिला की मौत हो गई। इसके साथ ही राजधानी में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 15 तक पहुंच गई है।

वहीं, तीन नए मरीजों में भी स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई। तीनों मरीजों का श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में उपचार चल रहा है। अब श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में कुल आठ और मैक्स अस्पताल में एक मरीज भर्ती है। उन्होंने बताया कि कुल 51 मरीजों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी है।

स्वाइन फ्लू के लक्षण:

-लगातार नाक बहना और छींकें आना।
-लगातार खांसी और बहुत अधिक बलगम।
-सिर में बहुत तेज दर्द। 
-बहुत ज्यादा थकान, अनिद्रा।
-मांसपेशियों में अकड़न और दर्द।
-गले में खुश्की और खरास।
-लगातार बुखार बढ़ना।

ऐसे बरतें सावधानी:

-खांसी-जुकाम को हल्के में ना लें।
-भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें।
-हाथ मिलाने और गले लगने से बचें।
-बिना मास्क पहने भीड़भाड़ में ना जाएं।
-अस्पताल जाते समय सावधानी बरतें।
-स्वाइन फ्लू प्रभावित क्षेत्रों में ना जाएं।
-खांसते और छींकते समय रुमाल रखें।

Leave a Reply