Breaking News Uttrakhand

कांवड़ियों को आने से रोकने के लिए उत्तराखंड पुलिस ने बनाई ये रणनीति

हरिद्वार। कांवड़ यात्रा स्थगित होने के बाद पुलिस ने पहले से ही सील सीमाओं पर चौकसी और बढ़ाने निर्णय लिया है। सीमा पर हर हालत में कांवड़ियों को रोका जाएगा। इसलिए पुलिस प्रशासन ने सीमावर्ती क्षेत्र के 11 स्थानों को चिह्नित किया है, जहां से कांवड़िए हरिद्वार जिले में प्रवेश कर सकते हैं। उत्तर भारत के बड़े मेलों में शुमार कांवड़ मेला भी इस बार कोरोना संक्रमण की भेंट चढ़ चुका है। उत्तराखंड के साथ उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली सरकार भी कांवड़ स्थगित करने का निर्णय ले चुकी है।

इसके बाद भी आशंका है कि बाहरी प्रदेशों के श्रद्धालु यहां आ सकते हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए बाहर से आने वाले लोगाें को रोकने के लिए कई राज्यों के अफसर मंथन कर चुके हैं। अब हरिद्वार पुलिस ने भी होमवर्क शुरू कर दिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डी सेंथिल अबूदई कृष्णराज एस का कहना है कि कोरोना के चलते पहले से सीमाएं सील हैं। इसके बाद भी और सख्ती के साथ बाहर से आने वाले वाहनों की जांच होगी।

हरिद्वार जिले में प्रवेश करने के 11 स्थान हैं। इन जगहों पर पुलिस की तैनाती की जाएगी और पैदल आने वालों को भी प्रवेश नहीं दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके अलावा पैरामिलिट्री फोर्स की सीमाओं पर तैनाती को लेकर उच्च अधिकारियों से वार्ता की जा रही है। 

वहीं, कांवड़ियों से कुंभनगरी न आने की अपील की जा रही है। डीजी कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने सोशल मीडिया के माध्यम से यह अपील की है। उन्होंने लिखा है कि कोरोना के मद्देनजर कांवड़िए यहां न आएं। इधर, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय की मानें तो सोशल मीडिया के माध्यम से कांवड़ियों के न आने का संदेश जारी किया गया है। संदेश में यह भी लिखा है कि यदि कोई आता भी है तो उसे क्वारंटीन कर दिया जाएगा। 

Leave a Reply