Breaking News National

17 देशों में फंसे भारतीयों को 170 फ्लाइट्स के जरिए लाया जाएगा वापस

नई दिल्ली। विदेश में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए वंदे भारत मिशन का चौथा फेज शुरू होने जा रहा है। इसके तहत एयर इंडिया 3 से 15 जुलाई तक 17 देशों से 170 फ्लाइट्स संचालित करेगी। कोरोनावायरस महामारी के कारण भारत ने 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध लगा रखा है। ऐसे में विदेश में फंसे भारतीयों को लाने के लिए सरकार ने 6 मई से वंदे भारत मिशन शुरू किया था।

इन देशों से लाए जाएंगे भारतीय
मिशन के चौथे फेज में कनाडा, अमेरिका, ब्रिटेन, केन्या, श्रीलंका, फिलिपींस, किर्गिस्तान, सऊदी अरब, बांग्लादेश, थाईलैंड, साउथ अफ्रीका, रूस, ऑस्ट्रेलिया, म्यांमार, जापान, यूक्रेन और वियतनाम से भारतीयों को वापस लाया जाएगा। इन देशों से 170 फ्लाइट्स का संचालन होगा।

किस रूट पर कितनी फ्लाइट
भारत-ब्रिटेन के रूट पर 38 फ्लाइट और भारत-अमेरिका के रूट पर 32 फ्लाइटों का संचालन होगा। इसके साथ ही भारत और सऊदी अरब के बीच 26 फ्लाइट ऑपरेट होंगी। वंदे भारत मिशन के तीसरे फेज में एयर इंडिया 495 उड़ानों का संचालन कर रही है। तीसरा फेज 10 जून से शुरू हुआ था और यह 4 जुलाई तक चलेगा। इस मिशन का पहला फेज 7 से 16 मई तक चला था।

अमेरिका ने फ्लाइट्स को एंट्री न देने की बात कही
22 जून को अमेरिका ने भारत की स्पेशल फ्लाइट्स को एंट्री देने से मना कर दिया है। यह आदेश 22 जुलाई से लागू हो जाएगा। अमेरिका ने आरोप लगाया है कि भारत एविएशन से जुड़े एग्रीमेंट को तोड़ रहा है। उसने कहा कि कोरोना के बीच भारत ने इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू नहीं की है, लेकिन वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने के लिए एयर इंडिया की फ्लाइट्स शुरू कर दी हैं और टिकट भी बेचे जा रहे हैं।

सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने 20 जून को कहा था कि सरकार अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को बहाल करने के बारे में सोच रही है। लेकिन, 26 जून को डीजीसीए ने बताया कि 15 जुलाई तक अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को बंद ही रखा जाएगा।

Leave a Reply