Breaking News Uttrakhand

लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों से सख्ती से निपटें अधिकारी: सीएम

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों को चेतावनी दी है। उन्होंने उच्च अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कोरोना संकट पर वीडियो कान्फ्रेंसिंग के बाद मुख्यमंत्री ने उच्च अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी किए।

प्रधानमंत्री से मिली हिदायतों के बाद मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर अधिकारियों की बैठक बुलाई। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का अनुपालन पूरी सख्ती से होना चाहिए। उल्लंघन करने वालों के खिलाफ महामारी आपदा एक्ट के तहत कार्रवाई सुनिश्चित करें। उन्होंने साफ किया कि जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक इसमें कोई कोताही न बरतें।

उन्होंने कहा कि इस बात का खास ख्याल रखा जाए कि आर्थिक मदद लेने के लिए बैंक या अन्यत्र पहुंचने वाले लोगों के कारण व्यवस्था न बिगड़े और न ही रोग फैलने की आशंका पैदा हो। ऐसे बुजुर्ग लोगों का खास ख्याल रखा जाए जो ओल्ड एज होम में या अकेले घर पर रहते हैं। ऐसे लोगों को दवा और मेडिकल उपकरण पहुंचाने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

उन्होंने दवा या मेडिकल उपकरण बनाने वाले कंपनियों में काम कर रहे लोगों का विशेष ध्यान रखने की हिदायत दी। कहा कि फार्मा कंपनियों के सुचारु रूप से काम करने में कोई दिक्कत नहीं होने चाहिए। बैठक में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, डीजीपी अनिल रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश, गृह और स्वास्थ्य सचिव नितेश झा, मुख्यमंत्री की सचिव राधिका झा, प्रभारी सचिव पंकज पांडे और निदेशक एनएचएम युगल किशोर पंत मौजूद रहे।

एनसीसी और एनएसएस का लें सहयोग
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि कोरोना संक्रमण के चलते लॉकलाउन में रह रहे लोगों तक राहत सामग्री पहुंचाने और अन्य कार्यों में एनसीसी और एनएसएस स्वयंसेवकों का सहयोग लें। उन्होंने कहा कि इसके लिए जिलाधिकारी स्थानीय एनएसएस और एनसीसी प्रभारियों से बातचीत कर कार्ययोजना तैयार करें और कैडेट्स को ट्रेनिंग दी जाए।
मास्क लगाए बिना न निकलें घर से बाहर
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि घर से बाहर निकलने वाले प्रत्येक व्यक्ति के लिए मास्क बेहद जरूरी हैं। लोगों को प्रेरित किया जाना चाहिए कि वे मास्क के बिना घर से बाहर नहीं निकलें। दवा की दुकानों में मास्क की उपलब्धता बढ़ाई जाए। उन्होंने कहा कि इसका कड़ाई से अनुपालन होना चाहिए

Leave a Reply