International National

मुरलीधरन ने आर.अश्विन को लेकर कही ये बात

नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे बॉर्डर-गावस्कर सीरीज अपने आखिरी चरण में पहुंच गया है। सीरीज का चौथा और आखिरी मुकाबला 15 जवनरी से ब्रिसबेन के गाबा मैदान पर खेला जाएगा। सीरीज में अबतक तीन मुकाबले खेले जा चुके हैं, जिसमें से दोनों ही टीमों ने एक-एक मैच जीते जबकि सिडनी में खेला गया तीसरा टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया। इस तरह सीरीज अभी 1-1 की बराबरी पर है।

वहीं टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले दोनों ही टीमों के गेंदबाजों को लेकर खूब चर्चा हो रही थी, जिसमें भारत के स्टार स्पिनर रविचंद्र अश्विन और ऑस्ट्रेलिया के नाथन लियोन का नाम सबसे अधिक सुर्खियों में था। इन दोनों ही गेंदबाजों को लेकर उम्मीद की जा रही थी कि सीरीज में वह सबसे अधिक सफल रहेंगे लेकिन इस मामले में अश्विन, लियोन से आगे निकलते दिख रहे हैं।

वहीं अश्विन को लेकर श्रीलंका के पूर्व महान स्पिनर मुथैया मुरलीधन ने एक बड़ी भविष्यवाणी की है। मुरलीधन का मानना है कि अश्विन, लियोन से बेहतर गेंदबाज हैं और वह उनके टेस्ट क्रिकेट में 800 विकेट लेने के रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं।

आपको बता दें कि टेस्ट क्रिकेट इतिहास में मुरलीधरन एकलौते ऐसे गेंदबाज हैं जिन्होंने 800 विकेट लेने का कारनामा किया है। वहीं टेस्ट क्रिकेट में अश्विन के विकटों की बात करें तो अबतक उन्होंने 377 विकेट लिए हैं।

सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड से बात करते हुए मुरलीधरन ने कहा, ”अश्विन के पास मौका है और वह एक बेहतरीन गेंदबाज है। अश्विन के अलावा मुझे नहीं लगता है कि मौजूदा समय में कोई गेंदबाज 800 विकेट के आंकड़े को छू सकता है। लियोन भी अच्छे गेंदबाज हैं और वह 400 विकेट लेने के करीब हैं लेकिन 800 विकेट लेने के लिए उन्हें बहुत सारे टेस्ट मैच खेलने होंगे।”

इसके अलावा मुरलीधर का मानना है कि पहले मुकाबले में अब गेंदबाजों के लिए विकेट लेना आसान हो गया है जबकि उनके समय में ऐसा नहीं था।

उन्होंने कहा, ”टेस्ट क्रिकेट में एक सबसे बड़ी दिक्कत यह आ गई है कि टी-20 और वनडे की वजह से अब खेलने के तरीके में बदलाव आ गया है। जब मैं खेलता था तो उस समय के बल्लेबाज तकनीकि रूप से बेहतरीन होते थे और विकेट बिल्कुल सपाट होता था लेकिन अभी समय में खिलाड़ी चाहते हैं कि मैच तीन दिन में समाप्त हो जाए।”

मुरलीधरन ने कहा, ”मेरे समय में गेंदबाजों को स्पिन कराने के लिए अलग से मेहनत करने की जरुरत होती थी ताकि उन्हें विकेट मिल सके लेकिन अभी के समय में ऐसा हो गया है कि अगर आप लाइन और लेंथ से गेंदबाजी कर रहे हैं तो आपको निश्चित रूप से पांच विकेट मिल जाएंगे क्योंकि बल्लेबाज बिना अटैक कर के खेल नहीं पाता है।”

Leave a Reply