National News Room

उत्तर भारत में पड़ रही कड़ाके की सर्दी, दिल्ली में 2 डिग्री सेल्सियस तक लुढ़का पारा

नई दिल्ली। दिल्ली में कड़ाके की ठंड जारी है। गुरुवार को दिल्लीवासियों को न सिर्फ घने कोहर का सामना भी करना पड़ा बल्कि सर्दी का कहर भी झेलना पड़ा। IMD ने गुरुवार जानकारी दी कि राजधानी दिल्ली में सफदरजंग इलाके में न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस रहा। इसके अलावा लोध रोड इलाके में न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस रहा जबकि रिज रोड इलाके में न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस रहा।

राजधानी दिल्ली में न्यूनतम तापमान गिरकर दो डिग्री सेल्सियस हो जाने के कारण ‘‘भीषण’’ शीत लहर की चपेट में आ गई है तथा राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार सुबह ‘‘घना’’ कोहरा छाया रहा। मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के एक अधिकारी ने बताया कि सुबह ‘‘घने’’ से ‘‘मध्यम’’ कोहरे के कारण पालम में दृश्यता स्तर 100 मीटर और सफदरजंग में 201 रहा।

IMD के अनुसार, यदि दृश्यता स्तर शून्य से 50 मीटर हो, तो कोहरा ‘‘अत्यंत घने’’ की श्रेणी में आता है, दृश्यता स्तर 51 से 200 मीटर होने पर यह‘‘घने’’ की श्रेणी में आता है, दृश्यता स्तर 201 से 500 मीटर हो, तो कोहरा ‘‘मध्यम’’ की श्रेणी में आता है और यदि दृश्यता स्तर 501 से 1,000 के बीच हो, तो कोहरा ‘हल्के’ की श्रेणी में आता है।

फदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि सामान्य तापमान से पांच डिग्री नीचे है, जबकि बुधवार को यह 3.2 डिग्री सेल्सियस था। लोधी रोड और रिज मौसम स्टेशनों ने क्रमश: 2.4 और 3.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। यदि मैदानी इलाकों में चार डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया जाता है, तो आईएमडी शीत लहर की घोषणा करता है और यदि तापमान दो डिग्री सेल्सियस या उससे भी नीचे गिर जाता है तो भीषण शीत लहर घोषित की जाती है।

IMD के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पश्चिमी हिमालयी क्षेत्रों से मैदानी इलाकों में चल रही ठंडी एवं शुष्क उत्तरी/उत्तरपश्चिमी हवाओं के कारण उत्तर भारत में तापमान और गिर गया है। शहर में एक जनवरी को 1.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था, जो पिछले 15 साल में इस महीने में सबसे कम तापमान है।

Leave a Reply