छात्रा से छेड़छाड़ के आरोप में प्रिंसिपल अरेस्ट

News Room Uttrakhand

देहरादून। राजधानी देहरादून के नेहरू कॉलोनी क्षेत्र में एक सरकारी इंटर कॉलेज में प्रधानाचार्य ने 12वीं की छात्रा से छेड़छाड़ कर दी। जिसके बाद गुस्साए परिजनों व क्षेत्रवासियों ने स्कूल में जमकर हंगामा किया और आरोपित प्रधानाचार्य की पिटाई कर दी। मामला बढ़ता देख पुलिस ने छात्रा व उसकी एक सहपाठी के बयान दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार लिया। पुलिस के मुताबिक, शनिवार को पीड़िता के 164 के बयान दर्ज कराए जाएंगे।

जानकारी के मुताबिक, थाना नेहरू कॉलोनी के एक इंटर कॉलेज का प्रधानाचार्य 12वीं की नाबालिग छात्रा को विगत कई दिनों से परेशान कर रहा था। आरोप है कि प्रधानाचार्य पीड़िता और उसकी दोस्त को स्कूल की छुट्टी के कुछ पहले अपने कक्ष में बुलाता था और उनके साथ अश्लील बातें करता था। आरोप है कि गुरुवार को एक बार फिर प्रधानाचार्य ने दोनों छात्राओं को छुट्टी से पहले अपने कक्ष में बुलाया और एक छात्रा को बाहर खड़ा कर दिया। इस दौरान प्रधानाचार्य ने पीड़िता के साथ कक्ष में गलत हरकत करने की कोशिश की।

छात्रा ने घर आकर यह बात अपने परिजनों को बता दी। घटना का पता चलने के बाद आक्रोशित परिजन बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों के साथ शुक्रवार को स्कूल पहुंच गए और वहां उन्होंने जमकर हंगामा करते हुए प्रधानाचार्य की पिटाई कर दी। हंगामे की सूचना नेहरू कॉलोनी पुलिस को मिली तो पुलिस स्कूल पहुंची और बामुश्किल प्रधानाचार्य को लोगों के चंगुल से छुड़ाकर थाने ले आई।

इसके बाद पीड़िता और उसकी सहेली के बयान दर्ज कर आरोपित प्रधानाचार्य नरेंद्र बिष्ट निवासी माजरी माफी को गिरफ्तार कर लिया गया और कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया। एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि पीड़िता और उसकी सहेली के बयान दर्ज करने के बाद ही आरोपित को गिरफ्तार किया गया है। शनिवार को पीड़िता के 164 के बयान दर्ज कराए जाएंगे। थाने और एसएसपी कार्यालय में किया हंगामा

मामले में परिजनों और क्षेत्रवासियों ने नेहरू कॉलोनी पुलिस पर जानबूझ कर कार्रवाई न करने का आरोप भी लगाया। परिजनों का कहना था कि पुलिस ने सुबह सात बजे से उन्हें थाने में ही बैठाए रखा। पुलिस आरोपित का तो मेडिकल करा रही है, लेकिन पीड़िता का नहीं। इस बात को लेकर उन्होंने जमकर हंगामा किया। आरोप लगाया कि मामले को निपटाने के लिए अनुचित दबाव बनाया जा रहा था। इसलिए परिजनों और ग्रामीणों ने एसएसपी कार्यालय में प्रदर्शन भी किया।

एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में पूरी निष्पक्ष तरीके से कार्रवाई की है। पीड़िता और उसकी सहेली के बयान दर्ज करने के बाद आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। पार्षद सचिन थापा, गणेश डंडरियाल (वार्ड अध्यक्ष) सहित बड़ी संख्या में लोग एसएसपी कार्यालय पर प्रदर्शन करने पहुंचे थे।

Leave a Reply