ओह गोवा ❤️❤️

गोवा शब्द सुनते ही आँखों के आगे समंदर का किनारा, रेत, और ढेर सारे अंग्रेज कपल रेत का बिछौना बनाये, टू पीस बिकनी - नेकर और शॉर्ट्स में लेटे हुए,...

बेकसूर

तुम अपने को भले ही बेकसूर मान लो, कितना ही बेगुनाह साबित करने की कोशिशें कर लो, मगर फिर भी कसूरवार रहोगे, बेगुनाह साबित नही कर पाओगे खुदको। जानते हो...

एक शाम

वो जो शाम गुजरी तुम्हारे संग बड़ी अच्छी सी शाम थी। सोचा था पता नहीं कैसे सामना होगा तुमसे, कैसे तुमसे बातें करेंगे। क्या हम पूछेंगे तुमसे और क्या तुम...

क्लीन चिट

उदास निगाहें पथरा गयी उस माँ की, जिसकी मासूम और नाबालिग बेटी की अस्मत पे हाथ डाला था जिस आदमी ने , उसको क्लीन चिट दे दी गयी सरकार की...

आधुनिक दोस्ती

बचपन की सखियों के संग खेलना, रूठना, मनाना। कुछ भी खाने का सामान बन्दर की तरह बांट कर खाना। खेल के मैदान में एकाएक खेल रोक कर तितलियों के पीछे...

आया मौसम फाग का

बहुत हुआ ये घोर चुप, अब तो कुछ बोल दो, आया मौसम फाग का, अँखियों से ही कुछ रंग घोल दो, ना लगो गले हमसे, ना सही, तिरछी नज़रों से ही देख लो, सतरंगी हो जाएगा...

एक शाम उधार दे दो

कभी इक शाम अपनी, हमें उधार देदो, अकेले हैं, मिल बैठ कर कुछ बातें कर लेंगे, कुछ यादें ताज़ा कर लेंगे, एक कप चाय का ही सही, साथ बैठ कर...

इनके सहारे

ना रोको अपनी यादों के सिलसिलो को, तुम तो आते नहीं, इन्हें तो आने दो, कुछ पल, कुछ पहर ठहर जाएँगी पास हमारे, कुछ वक्त और जी लेंगे इनके सहारे....
Close