अपनी मांग को लेकर धरना दे रहे बेरोजगार अभ्यर्थियों के आंदोलन को भावना पांडे ने दिया समर्थन

Breaking News Uttrakhand

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की ओर से कराई गई सहायक लेखाकार परीक्षा में अनियमितता का आरोप लगाते हुए जनता कैबिनेट पार्टी की केंद्रीय अध्यक्ष भावना पांडे गांधी पार्क के बाहर धरना दे रहे बेरोजगार अभ्यर्थियों के आंदोलन को समर्थन दिया एवँ परीक्षा रद्द कर दोबारा आयोजित कराने की मांग की।

जनता कैबिनेट पार्टी की केंद्रीय अध्यक्ष एवँ राज्य आंदोलनकारी भावना पांडेय ने कहा कि 12 से 14 सितंबर तक चयन आयोग ने ऑनलाइन परीक्षा कराई। उन्होंने आरोप लगाया कि छह शिफ्टों में संपन्न कराई परीक्षा में काफी विसंगतियां देखने को मिली।

20211102_153923

उन्होंने कहा कि पेपर का एजेंसी द्वारा अंग्रेजी से हिंदी में गूगल अनुवाद किया गया, जिस कारण हिंदी माध्यम के अभ्यार्थियों को कईं प्रश्न समझ में नहीं आ पाए। इस कारण सामान्य वाणिज्य में स्नातक अभ्यार्थी न्यूनतम अंक प्राप्त नहीं कर पाए।

भावना पांडे ने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि सहायक लेखाकार परीक्षा को अभ्यार्थियों के हित को दृष्टिगत रखते हुए रद किया जाए। उन्होंने मांग की है कि इस परीक्षा को ऑफलाइन के माध्यम से तीन माह के अंतर्गत एवं एक शिफ्ट में आयोजित किए जाने हेतु भी आदेश पारित किये जाएं।

उन्होंने कहा कि सहायक लेखाकार परीक्षा देने वाले बेरोजगार अभ्यर्थियों ने अपनी मांग को लेकर मुख्यमंत्री आवास कूच किया था। इस दौरान इन्हें आश्वासन देकर वापस भेज दिया गया था। कूच के दौरान भावना पांडे भी बेरोजगार अभ्यर्थियों के संग मौजूद रहीं थीं।

भावना पांडे ने मुख्यमंत्री धामी से मांग करते हुए कहा कि सहायक लेखाकार परीक्षा को रद्द करने के तत्काल आदेश दिए जाएं। उन्होंने बड़ा सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर क्यों इन मासूम बेरोजगार युवाओं को सताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार शीघ्र ही बेरोजगार अभ्यर्थियों की मांग को पूरा करें अन्यथा वे पुनः सीएम आवास कूच करने को विवश होंगे।

Leave a Reply