एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान में दहशत का माहौल

International News Room

जम्मू। पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में आज हुई सर्जिकल स्ट्राइक 2.0 (एयर स्ट्राइक) के बाद जम्मू कश्मीर के भीतर और सीमाओं पर तनातनी और दहशत का माहौल इसलिए है क्योंकि फौजों और फौजी साजो सामान की सीमाओं व एलओसी पर तैनाती के बीच लोग राशन एकत्र करते हुए नजर आए। हालांकि कई स्थानों पर इस पर खुशी भी मनाई गई। पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायु सेना की पाकिस्तान के आंतकी संगठनों में हुई सर्जिकल स्ट्राइक 2.0 के बाद जम्मू कश्मीर के सीमांत क्षेत्रों में सुरक्षा को कड़ा कर दिया गया है। पाकिस्तान से साथ लगती अंतर राष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ के जवानों के साथ सेना की आमर्ड बिग्रेड के जवानों को तैनात कर दिया गया है। आईबी पर दुश्मन देश के विमानों को मार गिरने के लिए सीमा पर एंटी एयर क्राफ्ट के साथ टैंकों को भी तैनात कर दिया है। पुरमंडल मोड़ में स्थित सेना की टैंक बिग्रेड से टैंकों को सीमा पर तैनात कर दिए है।

पाक कब्जे वाले कश्मीर में अंदर जाकर आतंकी शिविरों को ध्वस्त करने के बाद कश्मीर में भी मंगलवार को तनाव व्याप्त हो गया। पाकिस्तान अधिकृत क्षेत्र में भारतीय वायुसेना द्वारा आज तड़के किए गए हमले को लेकर श्रीनगर और घाटी के अन्य बड़े शहरों के निवासियों को छोटे छोटे समूहों में बातचीत करते हुये देखा गया। भारत और पाकिस्तान के बीच सभी युद्धों को देखने वाले अब्दुल गनी डार (80) ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि यह यहीं समाप्त हो जाएगा और इसमें वृद्धि नहीं होगी। पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला सहित कई लोगों ने दो परमाणु शक्ति संपन्न देशों के बीच एक पूर्ण युद्ध की संभावना को लेकर सोशल मीडिया पर अपना डर व्यक्त करते हुए कहा कि यदि शत्रुता में वृद्धि होती है तो इससे नियंत्रण रेखा के दोनों ओर रह रहे लोग सबसे अधिक प्रभावित और पीड़ित होंगे। 

अब्दुल्ला ने ट्वीटर हैंडल पर लिखा है कि अब पीएम इमरान खान इस पर विचार करेंगे कि ‘पाकिस्तान जबाव दे या नहीं।’ देखना यह है कि वह किस तरह की प्रतिक्रिया देंगे? कहां प्रतिक्रिया देंगे? क्या भारत पाकिस्तान की प्रतिक्रिया पर करारा जवाब देगा। याद रहे सरकार ने पिछले सप्ताह अलगाववादियों और जमात-ए-इस्लामी जम्मू कश्मीर कैडर पर कारवाई शुरू की थी जिसके बाद कश्मीर के निवासियों ने जरूरत का सामान जमा करना शुरू कर दिया था। जम्मू फ्रंटियर की 264 किमी लंबी सीमा पर रह रहे लोगों को सतर्क रहने की हिदायत दी गई है। जरूरत पड़ी तो लोगों को गांव खाली कर सुरक्षित स्थानों में जाने के लिए तैयार रहने को कहा गया है।

सभी शहरों भी प्रशासन को सतर्क रहते हुए सीमांत क्षेत्रों में रह रहे लोगों को शरण देने के लिए स्थान चिंहित करने को कहा गया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। भारतीय वायु सेना की ओर से सर्जिकल स्ट्राइक 2.0 किये जाने से उत्साहित जम्मू में मंगलवार की सुबह जहां एक नया जोश दिखा, वहीं पाकिस्तान के साथ संभावित जंग को देखते हुए लोग आने वाले दिनों की तैयारियां करते भी दिखे। शहर की अनाज मंडियों में मंगलवार की सुबह सामान्य से अधिक गहमागहमी दिखी और व्यापारियों ने उचित भंडारण के लिए आवश्यक खरीदारी की।

Leave a Reply